Weather Forecast: कड़ाके की सर्दी के लिए हो जाइए तैयार,अगले 4 से 5 दिनों में और लूढ़केगा पारा

0 0
Read Time:3 Minute, 23 Second

उर्वशी मिश्रा।
नई दिल्ली। 17दिसम्बर,21

नई दिल्ली। सर्दी का मौसम अब सताने को आतुर है। पहाड़ों पर बर्फबारी से मैदानी इलाकों में भी ठंड बढ़ गई है। मौसम के जानकारों की मानें तो कंपाने वाली सर्दी जल्द पड़ने के आसार हैं। मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर भारत के पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी और बारिश के बाद छत्तीसगढ़,पंजाब,हरियाणा,दिल्ली,उत्तर प्रदेश,राजस्थान,मध्यप्रदेश और बिहार में भी शीतलहर शुरू हो जाएगी। अनुमान है कि आज रात से ही तापमान में तेजी से गिरावट शुरू हो जाएगी।

मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक आने वाले दिनों में रात में तापमान में और गिरावट देखने को मिल सकती है। इसके साथ ठंडी हवा भी चलेगी जिससे ठिठुरन बढ़ेगी। इन इलाकों में लोगों के अगले 4 से 5 दिनों में हाड़ कंपा देने वाली ठंड का सामना करनी पड़ सकती है। जिससे लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

ये भी पढ़ें :  कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी बदले जाने पर मूणत ने बोला हमला, बोले मूणत-'भूपेश बघेल के सामने बेबस हो गए थे पुनिया...' और क्या कहा..पढ़िये

अगले चार से पांच दिनों में उत्तर पश्चिम भारत, मध्य भारत और गुजरात से सटे अधिकांश हिस्सों में पारा दो से चार डिग्री सेल्सियस कम होने का अनुमान है। इसके साथ ही अगले चार दिनों में पूर्वी भारत और महाराष्ट्र के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में भी दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ सकती है।

ये भी पढ़ें :  Health tips: वजन घटाने के साथ - साथ बालों के लिए बहुत फायदेमंद है तुलसी के पौधे, जानें इसके अनेकों फायदे

आईएमडी ने एक बयान में कहा, ”17 दिसंबर से 21 दिसंबर के दौरान पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और सौराष्ट्र और कच्छ में शीत लहर/गंभीर शीत लहर की स्थिति, 18 दिसंबर से 21 दिसंबर के दौरान उत्तरी राजस्थान में,; 19 दिसंबर से 21 दिसंबर के दौरान पश्चिम उत्तर प्रदेश में और गुजरात क्षेत्र में 19 और 20 दिसंबर में कड़ाके की ठंड़ पडेगी।” आईएमडी ने कहा, “अगले चार दिनों के दौरान सौराष्ट्र और कच्छ, पंजाब और हरियाणा में अलग-अलग इलाकों में सुबह के समय पाला पड़ने की संभावना है।”

मैदानी इलाकों में, आईएमडी न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक गिरने पर शीत लहर की घोषणा करता है। जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे कम हो और सामान्य से 4.5 डिग्री कम हो तो शीत लहर भी घोषित की जाती है। जब न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है या सामान्य से प्रस्थान 6.4 डिग्री सेल्सियस से अधिक हो जाता है, तो एक गंभीर शीत लहर घोषित की जाती है।

ये भी पढ़ें :  प्रदेश अध्यक्ष और आदिवासी नेत्री फूलो देवी नेताम और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता केटीएस तुलसी राज्यसभा के लिए उम्मीदवार घोषित- कांग्रेसी सरकार का बड़ा फैसला
Happy
Happy
%
Sad
Sad
%
Excited
Excited
%
Sleepy
Sleepy
%
Angry
Angry
%
Surprise
Surprise
%
Share

Related Post

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Comment