सुधांशु जी महाराज को सुनने उमड़ी भारी भीड़, महाराज जी ने कहा- ‘निर्णय लेने के लिए अडिग रहना है आवश्यक’, बोले- ‘देशहित में कुछ कठोर और आवश्यक निर्णय सरकार को लेने होंगे’

0 0
Read Time:4 Minute, 6 Second

 

सांसद बृजमोहन अग्रवाल, पूर्व आईएएस गणेश शंकर मिश्रा, सभापति प्रमोद दुबे ने लिया आशीर्वाद

 

उर्वशी मिश्रा, रायपुर, 30 जून 2024

विश्व जागृति मिशन के संस्थापक और पूरी दुनिया में सनातन धर्म की अलग जगाने वाले सद्गुरु सुधांशु जी महाराज आज छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर प्रवास में रहे। इस दौरान उन्होंने रायपुर के साइंस कॉलेज स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में वृहद संख्या में उपस्थित लोगों को आशीर्वचन प्रदान किया। अपने संबोधन में उन्होंने जीवन में निर्णय लेने को किसी भी व्यक्कृ का सबसे प्रमुख और अति महत्वपूर्ण कार्य बतलाया। साथ ही कई कथाओं के माध्यम से उन्होंने जीवन के पार्टी उदार बनने, सनातनी होने पर गर्व करने की प्रेरणा दी।

आशीर्वचन कार्यक्रम के बाद सद्गुरु सुधांशु महाराज ने मीडिया से बातचीत की। इस विशेष बातचीत में सुधांशु जी महाराज ने देश में नए कानूनों की उठती मांग के प्रश्न के जवाब में कहा कि देश में देश हित में कुछ कठोर और आवश्यक निर्णय सरकार को लेने होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि हम दो हमारे दो का पालन केवल हिंदू ही क्यों करें? लोगों को अपने मजहब से ऊपर उठकर देश के बारे में सोचना होगा।

ये भी पढ़ें :  Chhattisgarh Politics : छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, आरक्षण को लेकर रखी ये मांग

 

दो दिवसीय प्रवास पर रायपुर पहुँचे सुधांशु महाराज ने धर्मांतरण के विषय में कहा कि धर्मांतरण के पीछे बहुत सारे कारण हैं, हिंदुओं का भी बड़े स्तर पर धर्मांतरण हुआ है। उन्होंने अपील की कि हिंदुओं को जागरूक करने की आवश्यकता है, हिंदुओं के एक होने की ज़रूरत है। उन्होंने आगे कहा कि राष्ट्रांतरण के लिये धर्मांतरण का प्रयोग हो रहा है।

ये भी पढ़ें :  Corona Alert : चीन समेत कई देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों पर सरकार सतर्क... सभी राज्यों को दिए यह निर्देश

‘एक बार सर्ज़री करने की आवश्यकता है, भले ही कुछ लोग नाराज़ हों, पर एक बार सर्ज़री होनी चाहिए’- सुधांशु महाराज

देश में नये कानूनों की माँग पर सुधांशु महाराज ने कहा कि देशहित के लिए सख़्त निर्णय लेना ही होगा। उन्होंने कहा कि सदा के लिए एक बार सर्ज़री करने की आवश्यकता है, भले ही कुछ लोग नाराज़ हों, पर एक बार सर्ज़री होनी चाहिए। उन्होंने मानवता बचाने कठोर आवश्यक कदम उठाने पर इस दौरान जोर दिया।

 

‘छत्तीसगढ़ के लोग सीधे हैं, दिल के साफ हैं’

छत्तीसगढ़ के बारे में सुधांशु महाराज ने कहा कि छत्तीसगढ़ के लोग बहुत सीधे सादे हैं। यहां के लोग हमेशा खुश रहते हैं। लेकिन जब किसी पर नाराज हो जाते हैं, तो हमेशा के लिए नाराज हो जाते हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि वह वे राज्य गठन से लगातार छत्तीसगढ़ प्रवास पर आ रहे हैं, लेकिन अब छत्तीसगढ़ में पहले की अपेक्षा वृहद स्तर पर विकास नजर आता है। विश्व जागृति मिशन द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में रायपुर के सांसद बृजमोहन अग्रवाल, पूर्व आईएएस गणेश शंकर मिश्रा, सभापति प्रमोद दुबे समेत सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें :  सीएम भूपेश बघेल आज छत्तीसगढ़ विधानसभा में आयोजित उत्कृष्टता अलंकरण समारोह और एमओयू निष्पादन कार्यक्रम में होंगे शामिल
Happy
Happy
%
Sad
Sad
%
Excited
Excited
%
Sleepy
Sleepy
%
Angry
Angry
%
Surprise
Surprise
%
Share

Related Post

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Comment