भाजपा ने सदन में पूर्ववर्ती सरकार पर रीपा में बंदरबाँट का लगाया आरोप,वरिष्ठ विधायक धरमलाल कौशिक ने उठाया मामला,जवाब में मंत्री विजय शर्मा ने की घोषणा 3 महीने में होगी जांच पूरी

0 0
Read Time:4 Minute, 22 Second

रविश अग्रवाल, न्यूज़ राईटर, रायपुर,दिनाँक 15फरवरी2024

पूर्व नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने पिछली सरकार के दौरान रीपा निर्माण का मामला प्रश्नकाल में सदन में उठाया। उन्होंने पूछा की प्रदेश में 500 करोड़ की लागत से 300 रीपा स्थापित किए गए हैं जिसमे प्रदेश भर के रीपा में ताले लटके हुए है ,मशीनें बंद पड़ी है।2 करोड़ के योजना में 80 लाख के मशीन खरीदे गए। मामले से स्पष्ट हुआ कि डीएमएफ की राशि से कैसे बंदर बांट किया गया।धरमलाल कौशिक ने कहा कि योजना शुरू हुआ तब से करीब 600 करोड़ रुपये की राशि है जो डीएमएफ के मद से खर्च कर भ्रष्टाचार किया गया है।खरीदी में लीपापोती की गई है और मंत्री-अधिकारी बताने की स्थिति में नहीं है, मनमानी खरीदी हुई है। ये आरोप लगाते हुए विधायक कौशिक ने कहा कि सरकार की ओर से क्या चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में जांच कराया जाएगा जिसके जवाब में उपमुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी बनाकर जांच के निर्देश दिए है साथ ही कहा की 3 माह के भीतर जांच कर रिपोर्ट सौंपी जाएगी

ये भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़ में पुर्ण शराब बंदी हेतू कबीरधाम नगर दामाखेड़ा के नवदीप युवा मंच के सदस्यों ने माननीय मुख्यमंत्री जी को लिखा पत्र , प्रेषक वेमन कुमार

 

सदन में प्रश्नकाल में पूछे गए सवाल और उसके जवाब के कुछ अंश

पूर्व नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने पिछली सरकार के दौरान रीपा निर्माण का मामला प्रश्नकाल में सदन में उठाया

मंत्री विजय शर्मा ने दी जानकारी-

300 रीपा बनाये जाने थे, सभी बन गए. पिछली बार 441 करोड़ का बजट स्वीकृत था जिसमें 260 करोड़ का भुगतान हुआ है बाकी बचा है

धरमलाल कौशिक ने पूछा- किस-किस मद से राशि गई है?

मंत्री विजय शर्मा ने कहा- विभिन्न मदों से गई है, डीएमएफ सहित अन्य कई मदों की राशि है

ये भी पढ़ें :  छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर दिल्ली में कांग्रेस की बैठक शुरू, सीएम बघेल-मरकाम हुए शामिल

धरमलाल कौशिक ने कहा-

योजना शुरू हुआ तब से करीब 600 करोड़ रुपये की राशि है. डीएमएफ के मद से खर्च कर भ्रष्टाचार किया गया है।
खरीदी में लीपापोती की गई है और मंत्री-अधिकारी बताने की स्थिति में नहीं है, मनमानी खरीदी हुई है. क्या चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में जांच कराएंगे?

बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने पूछा-

कई मदों से भुगतान हुआ है. रीपा का क्या भौतिक सत्यापन हुआ है?

मंत्री विजय शर्मा ने कहा-

रीपा में स्ट्रक्चर बना है, कई जगहों पर सामान है, कुछ नहीं है. जो अपेक्षा थी वो पूर्ण नहीं हुआ है.

मंत्री विजय शर्मा की बड़ी घोषणा-

रीपा का एडवोकेट जनरल के जरिए ऑडिट होगा. चीफ सेक्रेटी की अध्यक्षता में समिति बनाकर जांच कराएंगे

धरमलाल कौशिक ने कहा- रीपा में ऐसा भी हुआ है कि 2 करोड़ का काम है पूरा और 80 लाख का प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाया गया है, ये हाल है

ये भी पढ़ें :  आरटीजीएस(RTGS): आज रात 12.30 बजे से चौबीस घंटे सातों दिन (24x7) कर पायेंगे

अजय चंद्राकर ने कहा- कहीं का पैसा कहीं घुसा दिया गया है. जांच की घोषणा हुई है लेकिन टाइम लिमिट बताया जाए

बीजेपी विधायक धरमजीत सिंह ने कहा- कई सरपंचों का भुगतान नहीं हुआ है, उनके लिए आत्महत्या की स्थिति है. उन्हें आत्महत्या से बचाया जाए और भुगतान किया जाए, बाद में मत कहिएगा जब आत्महत्या करने लगे

मंत्री विजय शर्मा ने की घोषणा-

3 महीने में होगी जांच पूरी….

Happy
Happy
%
Sad
Sad
%
Excited
Excited
%
Sleepy
Sleepy
%
Angry
Angry
%
Surprise
Surprise
%
Share

Related Post

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Comment