Chhattisgarh : मीसाबंदियों को फिर से सम्मान निधि दी जाएगी, सीएम साय ने की घोषणा

0 0
Read Time:2 Minute, 20 Second

 

उर्वशी मिश्रा, रायपुर, 27 फरवरी, 2024

रायपुर। साय सरकार ने ये बड़ा ऐलान किया है कि प्रदेश में जितने भी मीसा बंदी हैं उनको फिर से सम्मान निधि की राशि दी जाएगी। सीएम ने इस ऐलान के साथ ही बड़ी घोषणा भी की है। सीएम ने कहा है कि दूध का व्यापार करने वाले लोगों की मुश्किलों को देखते हुए प्रदेश में मिल्क रूट और चिलिंग प्लांट भी बनाया जाएगा। मिल्क रूट बनने और चिलिंग प्लांट के निर्माण से दूध व्याारियों की बड़ी मुश्किल आसान हो जाएगी।

ये भी पढ़ें :  Berojgari Bhatta : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बेरोजगारी भत्ता योजना का किया शुभारंभ, चार युवाओं को सौंपा स्वीकृति आदेश

मीसाबंदियों ने किया सीएम के फैसले का स्वागत

प्रदेश के मीसा बंदियों को फिर से सम्मान निधि दिए जाने का ऐलान होते ही मीसा बंदियों ने सरकार के फैसले की तारीफ की है। मीसाबंदियों ने कहा कि उनकी सम्मान निधि बंद कर दी गई थी। सम्मान निधि बंद होने के चलते उनको बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। भूपेश सरकार को मीसाबंदियों का श्राप लगा और कांग्रेस की सरकार चली गई।

ये भी पढ़ें :  Chhattisgarh : गृहमंत्री अमित शाह का छत्तीसगढ़ दौरा रद्द, सामने आई ये बड़ी वजह

 

कुरूद विधायक अजय चंद्राकर ने की थी मांग

विधानसभा में कुरुद से बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने मिल्क रूट और चिलिंग प्लांट की समस्या को लेकर मांग उठाई थी। अजय चंद्राकर के सवाल का जवाब देते हुए सदन में सीएम साय ने इस बात का ऐलान किया कि जल्द ही मिल्क रूट और चिलिंग प्लांट का काम शुरु होगा। प्रदेश में बड़े पैमाने पर दूध का ग्रामीण और शहरी एरिया में उत्पादन होता है। दूध को उत्पादन को बढ़ाने और उसे स्टोर करने के लिए लंबे वक्त से मिल्क रूट और चिलिंग प्लांट की मांग की जा रही थी।

ये भी पढ़ें :  रायपुर में पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिए 12 तारीख से टिकट मिलेंगी ऑनलाइन... बैठक में ज़रूरी व्यवस्थाओं पर हुई चर्चा
Happy
Happy
%
Sad
Sad
%
Excited
Excited
%
Sleepy
Sleepy
%
Angry
Angry
%
Surprise
Surprise
%
Share

Related Post

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Comment