नारायण सेवा संस्थान द्वारा दुर्घटना में अंगहीन हुए छत्तीसगढ़ के दिव्यांगों के लिए रायपुर में विशाल कृत्रिम अंग शिविर 17 मार्च को

0 0
Read Time:6 Minute, 2 Second

रविश अग्रवाल, न्यूज़ राईटर, रायपुर,दिनाँक 28फरवरी2024

उदयपुर राजस्थान का प्रतिष्ठित एवं राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त एनजीओ नारायण सेवा संस्थान द्वारा छत्तीसगढ़ में दिव्यांगों के कल्याणार्थ विशाल निःशुल्क शिविर का आयोजन 17 मार्च को रायपुर के एमजी रोड़ स्थित जैन दादावाडी परिसर में आयोजित होगा।

संस्थान के ट्रस्टी एवं निदेशक देवेंद्र चौबिसा ने बताया कि ऐसे लोग जिन्होंने किसी हादसे में या अन्य बीमारी के चलते अपना हाथ-पैर गंवा देने से अंगविहिन हुए है,उन्हें दिव्यांगता की दुःखभरी ज़िन्दगी से निकालने के लिए संस्थान निस्वार्थ भाव से प्रतिबद्ध है। पदमश्री अलंकृत संस्थापक कैलाश मानव जी की प्रेरणा से संस्थान विगत 39 वर्षों से संस्थान मानवता और दिव्यांगता के क्षेत्र में सेवारत है। छत्तीसगढ़ के दिव्यांग जनों को मदद पहुंचाने के संकल्प से विशाल निःशुल्क दिव्यांगता निवारण ऑपरेशन चयन एवं नारायण आर्टिफीशियल लिम्ब मैजरमेंट शिविर रायपुर के जैन दादाबाड़ी,एमजी रोड़ में रविवार 17 मार्च को प्रातः 8 बजे से सांय 5 बजे तक चलेगा। यह संस्थान की ‘कुआं प्यासे के पास’ योजना के तहत छत्तीसगढ़ में शिविर आयोजित हो रहा है।

ये भी पढ़ें :  कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कहा कोरोना संकट टला नहीं है, हनुमान जयंती पर पढ़े सुंदरकांड और हनुमान चालीसा

संस्थान के महागंगोत्री प्रभारी रजत गौड़ ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि नारायण सेवा संस्थान का यह फ्री कैम्प विशेष है। इसमें दिव्यांग बन्धुओं को संस्थान के अनुभवी एवं विशेषज्ञ ओर्थोटिस्ट एवं प्रॉस्थेटिक टीम द्वारा देखा जाएगा और टीम द्वारा उच्च गुणवत्ता युक्त और वजन में हल्के व टिकाऊ आर्टिफिशियल लिम्ब के लिए व्यवस्थित कास्टिंग कर लिम्ब बनाये जायेंगे। इन दिव्यांगों को संस्थान लगभग दो माह बाद इनके मेजरमेन्ट के अनुसार मॉड्यूलर कृत्रिम अंग वितरण शिविर आयोजित कर निःशुल्क फिटमेंट करेगा।

गौड़ ने बताया किइस शिविर के लिए संस्थान पदाधिकारीयों ने रायपुर के सम्मानित व्यक्तियों और छत्तीशगढ़ शासन के मंत्रियों को आमन्त्रित किया है। शिविर में स्थानीय संगठन श्री मानव सेवा संस्थान, मंगल भवन, अखंड ब्राह्मण समाज सेवा समिति, छत्तीशगढ़ प्रांतीय महिला अग्रवाल संगठन, महिला पतंजलि योग समिति, रायपुर करेला समाजम, श्री श्याम सेवादारी महिला संघ, छत्तीशगढ़ सर्व नाई समाज, छत्तीशगढ़ प्रदेश साहू संघ,राजश्री इंटर प्राइजेज,श्रीरामजी की सेना, अग्रवाल सभा रायपुर गुढीयारी मोहल्ला समिति, राणा फाउंडेशन,मणिकार्निका सहित 30 से ज्यादा समाज और संघ नारायण सेवा संस्थान के इस शिविर में स्वयंसेवक सहयोगी के रूप में जुड़ गए। कांफ्रेंस में संस्थान के पदाधिकारीयों और रायपुर आश्रम प्रभारी भरत पालीवाल और कौशल पालीवाल ने शिविर पोस्टर का विमोचन किया।

ये भी पढ़ें :  कलेक्टर कार्तिकेय गोयल ने रोजी-रोटी से जूझ रहे गरीबों की मदद के लिए जिम्मेदार नागरिकों से सहयोग करने की अपील

संस्थान के जनसंपर्क एवं मीडिया प्रभारी भगवान प्रसाद गौड़ ने दिव्यांगों को लाभ लेने के लिए अपील करते हुए कहा इस शिविर का लाभ लेने के इच्छुक दिव्यांग स्वयं का आधार कार्ड, डिसेबिलिटी प्रमाण पत्र और दिव्यांगता दिखाते हुए 2 फोटो लेकर आए। रोगियों को कैम्प स्थल पर निःशुल्क भोजन वितरित किया जाएगा।

नारायण सेवा संस्थान 1985 से नर सेवा-नारायण सेवा की भावना से काम कर रहा है। संस्थापक कैलाश मानव को राष्ट्रपति महोदय ने मानव सेवा के लिए पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा है । संस्थान के अध्यक्ष प्रशान्त अग्रवाल दिव्यांगों के लिए मेडिकल, शिक्षा, कौशल विकास और खेल अकादमी के माध्यम से मानसिक,शारीरिक एवं आर्थिक दृष्टि से मजबूत कर लाखों दिव्यांगों को समाज की मुख्यधारा में ला चुके है। वर्ष 2023 में अग्रवाल को राष्टृपति पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। संस्थान अब तक 41200 से अधिक कृत्रिम अंग लगा चुका है, तथा रायपुर, छत्तीसगढ़ से उदयपुर पहुंचे 3000 लोगों को निःशुल्क कृत्रिम अंग प्रदान कर उनकी रुकी जिन्दगी को फिर से शुरू कर चुका है।

ये भी पढ़ें :  भारत की अधिकांश जनसंख्या कृषि पर आधारित, कृषि के लिए एक लाख करोड़ का प्रावधान केंद्रीय वित्त मंत्री- निर्मला सीतारमण
Happy
Happy
%
Sad
Sad
%
Excited
Excited
%
Sleepy
Sleepy
%
Angry
Angry
%
Surprise
Surprise
%
Share

Related Post

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Comment